की सिफारिश की

प्रसिद्ध टग्स

तब्दील

मॉस्को में डब्ल्यूबीसी शिखर-सम्मलेन: प्रिज़्म टीम ने ब्लॉकचेन और क्रिप्टोमुद्राओं के विश्व शिखर सम्मेलन में भाग लिया

हाल के महीनों में, ब्लॉकचेन समुदाय द्वारा आयोजित और क्रिप्टोमुद्रा-मुद्रा उद्योग को समर्पित सम्मेलनों, मंचों, बैठकों या और कार्यक्रमों का आयोजन अधिकांशत: रूसी संघ के अधिकार क्षेत्र में किया जाता रहा है। हाल ही में इसने एक और स्पष्ट उदाहरण प्रस्तुत किया - ब्लॉकचेन और क्रिप्टोमुद्रा (डब्ल्यूबीसी) का विश्व-सम्मेलन इस बार मास्को में आयोजित हुआ, जिसने सभी देशों के 400 से अधिक प्रतिनिधियों को इकट्ठा किया ।

इस कार्यक्रम के प्रतिभागियों और अतिथियों की राय में, इस साल का डब्ल्यूबीसी शिखर सम्मेलन अपनी विशालता, संगठन तक पहुँच और क्षेत्रीय आर्थिक एकीकरण के मुद्दों के मुख्य सलाहकार श्री सर्जेई ग्लाज्येव सहित शीर्ष वक्ताओं की विविधताओं की वजह से पिछले साल के कार्यक्रम से बहुत उम्दा था । इस तथ्य के बावजूद कि सम्मेलन के लिए टिकट की कीमत 36 000 रूबल से शुरू होकर 1 बिटकॉइन (वीआईपी) तक थी, वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के पूरे कमरे भर गए थे – यहाँ तक कि कुछ प्रतिभागियों को बैठने की सीट भी शेष नहीं बची थी ।

आशानुरूप उन्नत क्रिप्टोमुद्रा प्रिज़्म की टीम ने भी ब्लॉकचेन समुदाय के डब्ल्यूबीसी शिखर-सम्मेलन में शिरकत की और जहां परियोजना के प्रतिनिधियों ने सम्मेलन के अन्य मेहमानों के साथ बातचीत में क्रिप्टो-मुद्रा बाजार के बारे में अपना दृष्टिकोण प्रस्तुत किया और पर्स्भी के बीच सम्मलेन के वक्ताओं से उद्योग की वर्तमान कमियों के बारे में तीखे सवाल पूछे ।

चर्चा के विषयों के मध्य निश्चित रूप से एक विशेष स्थान, प्रिज़्म टीम के, उद्योग के भीतर क्रिप्टो-मुद्राओं की वर्तमान "विकेंद्रीकरण" की भ्रामकता और समस्याग्रस्त प्रक्रियाओं के बारे में पूछे गए सवाल का था । हालांकि, इस बात के बावजूद कि यह सवाल निस्संदेह डब्ल्यूबीसी शिखर-सम्मेलन में अधिकांश मेहमानों के लिए महत्वपूर्ण था, क्रिप्टोमुद्राओं के केन्द्रीयकरण के सवाल को आसानी से वक्ताओं द्वारा चर्चा से बाहर रखा गया और सामान्य वाक्यांशों और शब्दों के द्वारा छिपा दिया गया था ।

हमें नहीं पता कि इस विकट बिन्दु को जानबूझकर नज़रंदाज़ किया जा रहा था या जो वक्ता जवाब दे रहे थे, उनकी व्यक्तिगत क्षमता के अनुरूप उन्हें इस उत्तेजक बिन्दु को अलग करना उपयुक्त नहीं लगा ।

बेलारूस से क्रिप्टोमुद्रा समर्थक: "डिजिटल अर्थव्यवस्था के विकास पर" राजाज्ञा

इसके अलावा, प्रिज़्म टीम की राय में, डब्ल्यूबीसी शिखर-सम्मेलन का एक दिलचस्प भाग बेलारूस के वक्ताओं श्री निकोले आटेमयेव और श्री इलिया सलीइ का का भाषण था, जिसमें उन्होंने "डिजिटल अर्थव्यवस्था के विकास पर" राजाज्ञा जिस पर 22 दिसंबर को बेलारूस के राष्ट्रपति श्री अलेक्जेंडर लुकासेको ने हस्ताक्षर किए थे, पर चर्चा की थी । इस राजाज्ञा का उद्देश्य बेलारूस में आईटी सेक्टर के विकास को उत्प्रेरित करना और जिसमे क्रिप्टो-मुद्राओं को विनियमित करने के मुद्दे भी समाहित हैं - जिसने डब्ल्यूबीसी शिखर-सम्मेलन के मेहमानों का अत्यधिक ध्यान आकर्षित किया ।

सर्वप्रथम, यह राजाज्ञा (डिक्री) कानूनी स्तर पर "ब्लॉकचेन", "टोकन", "क्रिप्टो-मुद्राएं", और "खनन", "स्मार्ट अनुबंध" आदि प्रकार की अवधारणाओं को तय और परिभाषित करती है । इसके साथ ही, स्वामित्व अधिकार भी परिभाषित होते हैं - जो कब्जे, बिक्री और टोकन के साथ अन्य पारस्परिकता को प्रभावित करते हैं। निस्संदेह, देश के अधिकार क्षेत्र में आईसीओ तंत्र के वैधीकरण के बिन्दु के डिक्री में शामिल होने और क्रिप्टो-मुद्राओं के एक्सचेंजर्स / एक्सचेंजों के उद्घाटन के बारे में ख़बर फैलने से एक विशेष हलचल मच गई थी ।

डिक्री यह भी तय करती है कि बेलारूस में टोकनों का कारोबार 2023 तक करमुक्त रहेगा । इसके अलावा, बेलारूस के वक्ताओं ने क्रिप्टो-मुद्रा बाजार के प्रतिभागियों के कर सम्बन्धी विशेषाधिकारों के बारे में बताया – इसे २०४९ तक लागू रखने की योजना बनाई गई है ।

बेलारूस में क्रिप्टो-मुद्रा के लिए टेक्नो पार्क की आर्थिक और कानूनी सुविधाएं

हमें कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं पर ध्यान देना चाहिए जो "डिजिटल अर्थव्यवस्था के विकास पर" डिक्री में बहुत महत्व के हैं और ये बेलारूस के क्षेत्र में हाई-टेक पार्क से संबंधित हैं।

  • यदि कोई कंपनी क्रिप्टो-मुद्राओं के बाजार में काम करने की योजना बना रही है (उदाहरण के लिए, स्टॉक एक्सचेंज या क्रिप्टोमुद्रा एक्सचेंजर खोलने के लिए) तो उसे सीधे बेलारूस के भीतर कानूनी तौर पर खोला जाना चाहिए - आमतौर पर सीमित देयता कंपनी के रूप में ।

    इस प्रोजेक्ट को अपनी अवधारणा और उत्थान के प्रस्तावित मार्ग को प्रस्तुत करने के लिए एक विस्तृत व्यापार योजना पेश करनी चाहिए । भविष्य में, इसे टेक्नो पार्क के प्रशासन और नियामकों के साथ समन्वयित किया जाएगा ।

    परियोजना पर सोच-विचार की अवधि 1 महीना (यदा कदा अधिक) है । यदि इस अवधि में परियोजना तकनीकी पार्क में आरम्भ करने के लिए तैयार नहीं होती है तो पहले से ही उपलब्ध प्रौद्योगिकियों और डेवलपमेंट को ऐसी परियोजनाओं के लिए ऑफर किया जाएगा ।

    काफ़ी संख्या में कंपनियां टेक्नोपार्क निवासी की हैसियत प्राप्त किए बिना टोकनों की मालिक हो सकती हैं, लेकिन अगर कंपनी खनन में संलग्न होने की योजना बना रही है, तो टेक्नोपार्क निवासी का दर्ज़ा प्राप्त करना आवश्यक है। यह नियम आईसीओ की शुरुआत पर भी लागू है – हालाँकि प्रोजेक्ट, आईसीओ को किसी और निवासी कंपनी की मदद से भी संचालित कर सकता है ।

    एक क्रिप्टो-एक्सचेंज कंपनी खोलने के लिए $ 500 000 की राशि होनी चाहिए । इसी प्रकार, क्रिप्टोमुद्रा एक्सचेंजर को शुरू करने के लिए आपको $ 100 000 की आवश्यकता होती है । फंड सीधे बेलारूस के बैंक में रखा जाना चाहिए ।

    ब्लॉकचीय कंपनियों की गतिविधियों की सूची को सीमित नहीं किया गया है । अगर कंपनी "क्रिप्टोमुद्रा प्लेटफार्म", "आईसीओ" या "क्रिप्टोमुद्रा एक्सचेंजर" की अवधारणाओं से हटकर कुछ भी पेश करती है, तो टेक्नोपार्क के प्रशासन के लिए यह दिलचस्प होगा – और उस प्रोजेक्ट पर विचार किया जाएगा । अर्थात्, कंपनी को उस प्रकार की गतिविधि में संलग्न होने का अधिकार है जो उसके व्यवसाय योजना में निर्धारित किया गया है ।

    उच्च प्रौद्योगिकी पार्क के निवासियों को कर बोनस, शून्य कॉर्पोरेट टैक्स, शून्य वैट, शून्य अपतटीय कर, व्यक्तिगत (जैसे, कर्मचारी) आयकर घटाकर 9% कर दिया और लाभांश पर 5% तक कर जैसे आकर्षक "बोनस" प्रदान किए जाते हैं । उपर्युक्त वरीयताओं को पाने के लिए, निवासी तकनीकी पार्क के प्रशासन को 1% राजस्व का भुगतान करता है ।

    अगर कंपनी अपने प्रोजेक्ट में विदेशी कार्मिकों को लगाती है, तो उन्हें बेलारूस के क्षेत्र में काम करने का वर्क परमिट लेने की आवश्यकता नहीं है । अस्थायी निवास परमिट रोजगार अनुबंध से 2 महीने अधिक की अवधि के लिए जारी कर दिया जाता है । देश में प्रोजेक्ट के कार्मिकों और संस्थापकों को 180 दिन के लिए वीजा मुक्त प्रवेश की अनुमति दी जाती है ।

बेलारूस में क्रिप्टोमुद्रा बाजार के विनियमन के विवरण सम्बन्धी प्रश्न भी प्रिज़्म प्रतिनिधियों द्वारा पूछा गया था:

एलेक्सी मुराटोव (CWT आंदोलन के नेता और प्रिज्म क्रिप्टोमुद्रा के संस्थापक): "क्या बेलारूस में क्रिप्टो-मुद्राओं के प्रयोग के लिए बनाए जाने वाले बुनियादी ढांचा की संभावनाओं के बारे में कुछ भी जानकारी है? कम से कम बेलारूस के क्षेत्र में, क्रिप्टोमुद्राओं को पूर्ण भुगतान के रूप में इस्तेमाल किया जाने की सुविधा है ? "

बेलारूस के वक्ता: "डिक्री अपनाने के चरण में कुछ चर्चाएं हुईं थीं । लेकिन क्रिप्टोमुद्रा को तब तक सार्वभौमिक विनिमय सुविधा का दर्जा देने का निर्णय लिया गया था, जब तक टोकन कानूनी क्षेत्र में ना आ जाएँ । ऐसे भी मामले हैं जब कुछ क्रिप्टोमुद्रा के जरिए बेचा गया - कीमत का सिर्फ एक हिस्सा बेलारूसी रूबल में भुगतान किया गया था, और दूसरा हिस्सा डिस्काउंट के रूप में और जिसका भुगतान बिटकॉइन में किया गया था । यह इस प्रकार था ।"

इसके अलावा, क्रिप्टोमुद्रा उद्योग के विकास के प्रोस्पेक्ट्स, बेलारूस से क्रिप्टोमुद्रा समर्थक और उन्नत क्रिप्टो-मुद्रा प्रिज़्म की टीम के प्रतिनिधियों ने की चर्चा के बाद आगे सहयोग पर सहमति व्यक्त की।

इस बीच, उद्योग में बिटकॉइन 10,000 डॉलर से नीचे गिर गया है और अमेरिकी नियामकों का रुख बिटफाईनेक्स और टेथर की और हुआ

इस बात से असहमत होना बहुत मुश्किल है कि निस्संदेह आज बिटकॉइन दर की अस्थिर स्थिति न केवल ब्लॉकचेन समुदाय बल्कि सामान्य तौर पर इंटरनेट में भी सबसे ज्यादा चर्चा का विषय है ।

फिलहाल, पहली क्रिप्टोमुद्रा की दर में यह तीव्र गिरावट इस तथ्य से जुड़ी हुई है कि संयुक्त राज्य अमेरिका के कमोडिटी फ़्यूचर्स व्यापार आयोग (सीटीएफसी) ने शीर्ष स्तर की क्रिप्टोमुद्रा एक्सचेंजों बिटफिनेक्स और टिथर की गतिविधियों पर बारीकी से निगरानी करना शुरू कर दिया । इस खबर की पृष्ठभूमि के खिलाफ, बिटकॉइन दर, जो पहले से ही पिछले कुछ महीनों में नियमित रूप से गिर रही थी, और भी ज्यादा गिरकर 10,000 डॉलर के अगले मनोवैज्ञानिक निशान पर पहुँच गई । एक और जाने-माने बिटस्टैंप विनिमय मंच पर, भी बिटकॉइन विनिमय दर घटकर 9731 डॉलर पर आ गई ।

जैसा कि आप जानते हैं, लंबे समय से कई बाजार विशेषज्ञ विश्लेषकों द्वारा टिथर पर बिटफिनक्स और पोलोनीक्स सहित कई एक्सचेंजों पर बड़ी संख्या में असंपुष्ट USDT टोकन जारी कर व्यापार किए जाने का आरोप लगाया जाता रहा है । इसके अलावा, कई बार ऐसे संस्करण होते थे जो USDT द्वारा अनियंत्रित मुद्दा होते थे, जिसके कारण 2017 में बिटकॉइन विनिमय दर में तेज वृद्धि हुई थी, जिसकी जगह 2018 की शुरुआत में ही एक तेज गिरावट ने ले ली ।

इस स्थिति पर जन आंदोलन "आओ मिलकर दुनिया को बदलें" और क्रिप्टोमुद्रा के संस्थापक श्री अलेक्सी मराटोव ने भी टिप्पणी की थी: "जब तक, और क्रिप्टोमुद्राओं की तरह बिटकॉइन, भुगतान का साधन बनने की बजाय एक सट्टा उपकरण बना रहेगा और लोग क्रिप्टोमुद्राओं को कागज़ी धन द्वारा खरीदने में सक्षम रहेंगे - एक्सचेंज और क्रिप्टोमुद्रा एक्सचेंजर्स दोनों कमज़ोर अंग ही रहेंगे - निस्संदेह सम्पूर्ण होनहार ब्लॉकचेन इंडस्ट्री के लिए “अखिलीस की एड़ी” के समान ।

बिटकॉइन सम्पूर्ण भुगतान उपकरण नहीं बन पाया है, क्योंकि यह तकनीकी रूप से अपूर्ण है - इसकी कमियों में से: लेनदेन की गति, लेनदेन की लागत, बैंडविड्थ, उच्च परिवर्तनशीलता आदि प्रमुख हैं । और शायद, बिटकॉइन भुगतान का एक सम्पूर्ण साधन बनने की संभावना ही नहीं है । यह भेद्यता ज्यादातर क्रिप्टोमुद्राओं के साथ जारी रहेगी ।

लेकिन प्रिज़्म के पास एक सम्पूर्ण भुगतान साधन बनने की सभी संभावनाएं मौज़ूद हैं । इसकी लोकप्रियता और बुनियादी ढांचे के विकास के साथ, सामान और सेवाओं के लिए खाते की इकाई के रूप में प्रिज़्म के रिसेप्शन की शुरुआत, एक्सचेंजों और एक्सचेंजर्स के सामने आने वाली समस्याओं का समाधान करेगी । क्रिप्टोमुद्रा उद्योग में यह भेद्यता नहीं होगी - आखिरकार, आज, प्रयोक्ता, क्रिप्टोमुद्रा को कागज़ी धन में वापस लेने के लिए, पुन: मौजूदा बैंकिंग प्रणाली और नियामकों के अधिकार क्षेत्र में लौटने के लिए मजबूर हैं ।"

अस्थाना मनी मेंकिंग शिखर-सम्मेलन में अलेक्सी मुराटोव

इसके अलावा, 22 फरवरी को, CWT नेता और उन्नत क्रिप्टोमुद्रा प्रिज्म के संस्थापक श्री अलेक्सी मुराटोव "अस्ताना मनी मेकिंग शिखर-सम्मेलन" में, "क्रिप्टोमुद्राओं की मौजूदा समस्याएं, समाधान की संभावनाएं और संभावित विकल्प" पर एक रिपोर्ट के साथ अस्ताना को संबोधित करेंगे ।

क्रिप्टोमुद्रा बाजार के मौजूदा मुद्दों को उठाया जाएगा और सबसे ज्यादा असुविधाजनक उन सभी प्रश्नों के उत्तर दिए जाएंगे, जिनके उत्तर देने से ब्लॉक-उद्योग के सभी विशेषज्ञ बचते हैं ।

  • 23 फ़रवरी 2018 को 4:17:00 अपराह्न MSK
  • 0 टिप्पणी
  • 51 देखा
0 टिप्पणी