की सिफारिश की

प्रसिद्ध टग्स

तब्दील

अलेक्सी मुराटोव: ब्लॉकचेन की दुनिया में क्रांति क्रिप्टोमुद्रा विकेंद्रीकरण के विचार को नष्ट कर सकती है

ब्लॉकचेन की दुनिया में एक क्रांति उभर रही है, और यह क्रांति; विकेन्द्रीकृत इलेक्ट्रॉनिक मुद्रा के विचार को पूरी तरह से नष्ट कर सकती है ।

चीन की सरकार इस क्रांति की जनक बन सकती है । यह तथ्य 18 मार्च 2017 को जोहान्सबर्ग में आयोजित एक नियमित सम्मेलन में, अंतर्राष्ट्रीय जन आंदोलन "आओ मिलकर दुनिया को बदलें" (CWT), के बोर्ड अध्यक्ष श्री अलेक्सी मुराटोव द्वारा घोषित किया गया था ।

फ़र्क महसूस करें !

श्री अलेक्सी मुराटोव के अनुसार, सभी संकेत इस तथ्य की ओर इशारा करते हैं कि चीनी सरकार बिटकॉइन के निजीकरण का इरादा रखती है । "ऐसा कैसे हो जाएगा?" ऐसा होने के लिए,किसी व्यक्ति के हाथ में ब्लॉक रच सकने वाली खनन क्षमताएँ और बिटकॉइन का आधे से ज्यादा हिस्सा इकट्ठा होना ज़रूरी है । इस प्रकार मालिक अपने मन मुताबिक खेल के नियमों को बदल सकता है । ब्लॉकचेन की दुनिया में, इसे हार्ड फ़ोर्क के रूप में जाना जाता है । इसका अभिप्राय है कि यह एक ऐसी स्थिति है जहां डेवलपर या क्षमताओं के मालिक तकनीकी रूप से नेटवर्क के एक नए संस्करण को बनाने का एकतरफा निर्णय लेते हैं, जिसमें कुछ नियम मूल नियमों से भिन्न हो सकते हैं । इसलिए, अब, चीन में फ़ोर्क को लागू करने और बिटकॉइन के स्थानापन्न के रूप में असीमित बिटकॉइन के लिए सभी संभावनाएं हैं"- CWT के बोर्ड अध्यक्ष ने कहा ।

उन्होंने हाल ही में एक अन्य क्रिप्टो मुद्रा - ईथरियम (एथिरम) के साथ ऐसी ही स्थिति के बारे में याद दिलाया । "बिटकॉइन के बाद यह दूसरी सर्वाधिक रेटिंग वाली इलेक्ट्रॉनिक मुद्रा है, और हाल ही में एक फ़ोर्क भी लागू किया गया था, कारण शास्त्रीय संस्करण पर हैकर्स द्वारा हमले होना था । पिछले साल जून में किसी ने गोपनीय तरीके से विनिमय के जरिये बड़ी रकम निकालना शुरू कर दिया था । लोगों ने अपनी आंखों से पैसे को दूर जाते देखा, यह लगभग साक्षात् बैंक डकैती को देखने जैसा था । परिणामस्वरूप, हैकर को उस समय क्रिप्टो मुद्रा की दर से लगभग 50 मिलियन डॉलर मिले । डेवलपर्स ने चोरी को रोकने और धन को दूसरे अनुबंध में ले जाने के बन्दोबस्त किए, लेकिन यह मात्र एक अस्थायी उपाय साबित हुआ । परिसंपत्तियों को आगे और निकालने से रोकने के लिए,एक नया संस्करण बनाना पड़ा, और इस प्रकार एथिरम विभाजित हो गया"- श्री अलेक्सी मुराटोव ने कहा।

उनके अनुसार, अधिकांश प्रयोक्ताओं ने उस समय फ़ोर्क का समर्थन किया था । "हैक किए गए पुराने कोड के सभी जोखिमों को समझने के बाद, अधिकांश विनिमयों, सेवाओं, वेबसाइट्स और डेवलपर्स ने हार्ड फ़ोर्क का समर्थन किया । इसके अलावा, चूंकि ज्यादातर खनिक ईथरियम पारिस्थितिकी तंत्र के डेवलपर्स पर बिना किसी शर्त विश्वास किया करते थे, हार्ड फ़ोर्क के दौरान भी उन्होंने बिना हिचकिचाए उनका अनुसरण किया । लेकिन प्रयोक्ताओं का एक छोटा वर्ग था जिसने पुराने संस्करण को नहीं छोड़ा था । परिणामस्वरूप, इन दोनों संस्करणों के बीच वर्तमान विनिमय दर में अंतर काफी महत्वपूर्ण हो गया - पुरानी व्यवस्था में एक इकाई की कीमत $ 2 के लगभग थी और नए संस्करण में, इसे लगभग 45 डॉलर मूल्यांकित किया गया"- श्री अलेक्सी मुराटोव ने कहा ।

इसमें क्या चाल है?

अब एक बार हम बिटकॉइन पर वापस आते हैं और देखते हैं कि चीन में इसके साथ क्या हो रहा है । जैसा कि श्री अलेक्सी मुराटोव ने बताया है, अब चीन के प्राधिकारियों ने देश के शेयर बाजारों में सभी मौजूदा बिटकॉइनों के आधे से अधिक को अवरूद्ध कर दिया है । "अब चीनी प्राधिकारी सभी स्थानीय खनन क्षेत्रों पर नियंत्रण लेने की कोशिश कर रहे हैं जो ब्लॉक (सर्वर) बनाते हैं । अब इसके कारण स्पष्ट हैं कि क्यों चीन में बिटकॉइन के स्थानीय उत्पादन के उपकरणों का आधे साल तक शोषण किया गया था । फिर इसे बेचा नहीं गया था, अपितु केवल दुनिया भर में पट्टे पर दिया गया था, जबकि वास्तव में यह उत्पादक देश के क्षेत्र में ही मौजूद था । चाल यही है कि अब इस उत्पादक देश के पास चीन में सभी खनन उपकरणों पर नियंत्रण पाने का और उसके जरिए बिटकॉइन का नया संस्करण पेश करने का अवसर है", - CWT बोर्ड प्रमुख ने समझाया ।

उनके अनुसार, असल में, चीनी सरकार अब बिटकॉइन का फ़ोर्क तैयार कर रही है । "सभी शर्तें बिटकॉइन का विभाजन करने और अधिकांश प्रयोक्ताओं को बिटकॉइन असीमित संस्करण; जिसे चीनी प्राधिकारियों के नियंत्रण में बनाया गया था; में स्थानांतरित करने के लिए बनाई गईं हैं । राज्य द्वारा अधिकांश सेवाओं को अपने हाथ में रखने के कारण, अधिकांश बिटकॉइन प्रयोक्ताओं को राज्य द्वारा सुरक्षा दी जाएगी । इन प्रयोक्ताओं को नई प्रणाली की शर्तों को स्वीकार करना होगा और ये आगे भविष्य में बिटकॉइन को नियंत्रित नहीं कर पाएंगे । इस क्रिप्टो मुद्रा पर नियंत्रण इसे धीरे-धीरे छोटे प्रयोक्ताओं से बड़े खिलाड़ियों तक ले जाएगा, जब तक कि मैदान में केवल 2 या 3 केंद्रीकृत कंपनियाँ नहीं बचतीं । ये कंपनियां अत्यधिक बढ़ाए-चढ़ाए बिटकॉइन के साथ काम करना जारी रखेगी, और बाकी सब को उन पर आँख बंद कर विश्वास करना होगा । विनियमन और नियंत्रण लागू करके, सरकार के लिए इन दो या तीन बड़ी कंपनियों के बारे में हेरा फेरी बहुत आसान हो जाएगी, "- श्री अलेक्सी मुराटोव ने हार्ड फ़ोर्क के सभी जोखिमों को समझाया ।

हमें क्या करना चाहिए ?

"आओ मिलकर दुनिया को बदलें" आन्दोलन के बोर्ड अध्यक्ष ने आत्मविश्वास पूर्वक कहा कि ऐसी कड़ी मेहनत से बिटकॉइन; एक विशिष्ट स्रोत कोड होने के अपवाद के साथ; एक आधुनिक बैंक में बदल जाएगा । "दूसरे शब्दों में, हम केंद्रीयकृत बैंकिंग प्रणाली में वापस आ जाएंगे, हालांकि इस बार कागजी मुद्रा के साथ नहीं बल्कि बिटकॉइन के रूप में इलेक्ट्रॉनिक धन के साथ आएँगे । अगर पहले पूरे विश्व की वित्तीय प्रणाली को अमेरिका द्वारा फेडरल रिजर्व सिस्टम के जरिए बनाया और नियंत्रित किया जा रहा था, तो अब बिटकॉइन पर आधारित नई वित्तीय प्रणाली को चीन द्वारा नियंत्रित किया जाएगा, जहाँ खनन पूल भी चीन में ही स्थित होगा । संक्षेप में, हम कड़ाही से आग में कूद रहे हैं,"- श्री अलेक्सी मुराटोव ने कहा ।

 

यह बिलकुल स्पष्ट है कि अब बिटकॉइन प्रयोक्ताओं को गंभीर जोखिम का सामना करना पड़ेगा और जबरन असीमित श्रेणी में स्थानांतरित होना पड़ेगा । "डेवलपर पहले से ही प्रोग्राम की गंभीर समस्याओं को ठीक कर रहे हैं । उदाहरण के लिए, 14 मार्च को बिटकॉइन असीमित का समर्थन करने वाले नोड्स में से लगभग 70%; प्रोग्राम कोड में एक त्रुटि आने के कारण ऑफलाइन हो गए थे । कुछ प्रकार के संदेश नोड्स के लिए भेजे गए थे जिसके बाद पता लगी त्रुटि ने इस प्रणाली की कमजोरी का खुलासा कर दिया, "- श्री अलेक्सी मुराटोव ने बताया ।

इस क्रिप्टोमुद्रा के केन्द्रीयकरण के जोखिम को न्यूनतम करने के लिए बिटकॉइन के प्रयोक्ता क्या कर सकते हैं?"अब इस स्थिति में भी, अभी भी बिटकॉइन खोया नहीं है, बल्कि हमारे पास एक नई एकल इलेक्ट्रॉनिक मुद्रा बनाने का मौका है । और यह काम चल रहा है । हमारे पास विभिन्न देशों के विशेषज्ञों, डेवलपर्स और प्रोग्रामर्स की टीम है, जो कि नई विकेन्द्रीकृत क्रिप्टो मुद्रा को रचने वाले बलों में शामिल हो गए हैं । यदि बिटकॉइन हार्ड फ़ोर्क का क्रियान्वयन करता है और चीन के नियंत्रण केंद्र से पृथक्करण के मार्ग का अनुसरण करता है, तो एक वैकल्पिक क्रिप्टोमुद्रा होगी । हम समझते हैं कि चीनी प्राधिकारियों को अपने इरादों को पूरी तरह से प्रदर्शित करने और फ़ोर्क तैयार करने का पूरा मौका देना चाहिए । उन्हें मेज पर अपने पत्ते रखने दो, फिर हम हमारे पत्ते रखेंगे, "- CWT बोर्ड प्रमुख ने दक्षिण अफ्रीका के जोहानिसबर्ग में एक सम्मेलन में कहा ।

अलेक्सी मुराटोव के मुताबिक, यह जरूरी है कि जोखिम का निष्पक्षता से मूल्यांकन करें; ना कि अपने सिर को रेत में छिपा लें । "हमें चीनी प्राधिकारियों की मौजूदा कार्रवाइयों के परिणामों को कमतर आंकने का कोई अधिकार नहीं है, जो स्पष्ट रूप से बिटकॉइन का निजीकरण करने की उनकी चाहत को प्रकट करते हैं । हम सबसे बड़ी क्रिप्टो मुद्रा के केंद्रीयकरण और बिटकॉइन को एक नए बैंक में बदलने की अनुमति नहीं दे सकते । अन्यथा, हम दुनिया भर में हमारे समर्थकों, लाखों सक्रियतावादियों और क्रिप्टो-मुद्रा के प्रयोक्ताओं के विश्वास को खो देंगे,"- श्री अलेक्सी ने निष्कर्ष निकाला ।

Source: CWT News

  • 20 मार्च 2017 को 9:33:00 अपराह्न MSK
  • 0 टिप्पणी
  • 940 देखा
0 टिप्पणी