की सिफारिश की

प्रसिद्ध टग्स

तब्दील

अलेक्सी मुराटोव: इन दिनों हर क्रिप्टोमुद्रा उपयोगकर्ता के पास नई दुनिया की वित्तीय प्रणाली के बैंकर बनने का अनूठा अवसर है

रविवार को, अंतर-राष्ट्रीय जन आन्दोलन “आओ मिलकर दुनिया को बदलें” का एक सम्मेलन दक्षिण अफ्रीका गणराज्य, के सबसे बड़े प्रशासनिक केंद्रों में से एक डरबन में आयोजित किया गया था ।

जिसमें बोर्ड अध्यक्ष अलेक्सी मुराटोव ने भी भाग लिया था ।

यह इस साल दक्षिण अफ्रीका में CWT सक्रियतावादियों का पहला सम्मेलन रहा । “आओ मिलकर दुनिया को बदलें” के 200 से अधिक समर्थकों ने इस सम्मेलन में भाग लिया।

डरबन सम्मेलन पारंपरिक रिवाज़ ज़ुलु नृत्य से शुरू हुआ, जो कि कार्यक्रम की सफलता के लिए अच्छा और भाग्यशाली होना चाहिए । जैसा कि अलेक्सी मुराटोव ने कहा, यह भी नोट करना दिलचस्प होगा कि दक्षिण अफ्रीका में CWT के मुख्य वक्ता महिला जाति की प्रतिनिधि थी । "हमें यह स्वीकार करना होगा कि लगभग सभी देशों में हमारे सभी नेता पुरुष हैं । इसलिए डरबन में प्रमुख वक्ता एक महिला पिंकी मेफुमुलो नटोज़ाखे का होना विचित्र था । लेकिन पिंकी ने तुरंत ही खुद को एक उज्ज्वल, करिश्माई नेता के रूप में पेश किया; जो चहुँ ओर जमा लोगों को संबोधित करने को तैयार था। इसलिए, मुझे लगता है कि यह चुनाव बहुत अच्छा है," उन्होंने कहा ।

इसके साथ ही, अलेक्सी मुराटोव ने “आओ मिलकर दुनिया को बदलें” की गतिविधियों और CWT सक्रियतावादियों के सिद्धांतों का वर्णन किया और सम्मेलन के दौरान अपनी पुस्तक "CWT विचारधारा" प्रस्तुत की । "हमारे आंदोलन की गतिविधियों की बात करते हुए, ख़ास तौर पर, मैं उन सिद्धांतों का वर्णन करना चाहता हूं जो हमारा मार्गदर्शन करते हैं । सबसे पहले, हमें झूठ नहीं बोलना चाहिए और उन लोगों को धोखा नहीं देना चाहिए, जो हमारा अनुसरण करते हैं, हमें यथासंभव ईमानदार, वफादार और स्पष्ट होना चाहिए। यह हमारे लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है, क्योंकि दुनिया की वित्तीय संभ्रांतियों के बारे में सच्चाई का खुलासे के जरिए ही हम उनके प्रभाव के परित्याग में सक्षम होंगे और दुनिया की एकल मुद्रा - अमेरिकी डॉलर का परित्याग कर, क्रिप्टोमुद्रा को अपनाने और अपनी पूँजी को कई गुना बढ़ाने में सक्षम होंगे " अलेक्सी मुराटोव ने जोर दिया ।

इसके अलावा, उन्होंने कहा कि इस समय कोई सुपर क्रिप्टोक्यूरेंसी नहीं है और ई-मनी मार्केट काफी विविध था। अलेक्सी मराटोव ने बताया कि, "अब दुनिया में कई अलग-अलग फिनटेक क्षेत्र हैं, उपयोगकर्ताओं के पास कई प्रकार की ई-मुद्रा परिसंचरण है। हर मुद्रा में फायदा और नुकसान हैं और हमें इसके बारे में ईमानदार होना होगा। हमारे कॉन्फ्रेंस में हम कई क्राइप्टोक्यूच्युड्स के फायदा और नुकसान के बारे में बात करते हैं। हम लोगों को वित्तीय साक्षरता सिखाते हैं और उनको स्वतंत्र रूप से निर्णय लेने का मौका देते हैं कि किस क्रिप्टोक्यूरेंसी का उपयोग करना है।" 

उनके अनुसार, इलेक्ट्रॉनिक धन का प्रयोग इस समय निर्माणात्मक चरण में है। "यदि आप एक सादृश्य रेखांकित करें, तो ई-मुद्रा का उत्तरोत्तर विकास वाइल्ड वेस्ट के मिलता जुलता है, जब खेल के कोई स्पष्ट नियम नहीं थे, सुरक्षित संरचनाएं और जमा की गारंटी नहीं थी, और सड़कों पर चलते काउबॉय किसी भी समय बैंक लूटने के लिए तैयार रहते थे । वर्तमान में, ये काउबॉय HYIP-परियोजनाएँ हैं, जो कि क्रिप्टोमुद्रा विनिमयों पर जी रहे परजीवी है । क्रिप्टोमुद्रा के कारोबार को नियंत्रित करने वाली कानूनी रूपरेखा की कमी होना भी इसमें मदद करता है । इसलिए इस स्तर पर यह समझना बहुत जरूरी है कि एक धोखाधड़ी क्या है और किसी विशेष स्टार्टअप में भागीदारी के सभी जोखिमों के प्रति लोगों का सजग होना ज़रूरी है ।" CWT के बोर्ड अध्यक्ष ने कहा ।

उन्होंने यह भी कहा कि कक्ष में उपस्थित हर व्यक्ति के पास आज बैंकर बनने का एक अनूठा अवसर था । "कागजी धन और उनको सेवा देने वाले बैंक दोनों निकट भविष्य में अस्तित्व में नहीं रहेंगे । नए, विभिन्न क्रिप्टोमुद्राओं वाले विकेन्द्रीकृत वित्तीय संस्थान जल्द ही बड़ी भारी मांग में होंगे । क्रिप्टोमुद्रा विनिमयों में ये सभी संस्थान स्वयं के बीच उद्धृत किए जाएंगे और इनकी दर मांग और आपूर्ति पर निर्भर करेगी। और अब कोई भी क्रिप्टोमुद्रा का मालिक, ई-धन उपयोगकर्ता, भविष्य में एक बैंक स्थापित कर सकता है, "अलेक्सी मुराटोव ने संक्षेप में कहा ।

अपने वक्तव्य के अंत में, CWT बोर्ड अध्यक्ष अलेक्सी मुराटोव ने प्रत्येक सम्मलेन प्रतिभागी के लिए अपनी पुस्तक पर व्यक्तिगत रूप से हस्ताक्षर किए । RSA के आंदोलन समर्थकों के साथ उनकी अगली सभा 16 मार्च को जोहान्सबर्ग में आयोजित की जाएगी ।

Source: CWT News

 

  • 17 मार्च 2017 को 12:17:00 अपराह्न MSK
  • 0 टिप्पणी
  • 565 देखा
0 टिप्पणी