की सिफारिश की

प्रसिद्ध टग्स

तब्दील

अलेक्सई मूरतोव: भारत में, ब्लॉकचेन और आभासी मुद्राओं की एसोसिएशन की रचना हुई.

फरवरी में, महाराष्ट्र राज्य में कई महत्वपूर्ण घटनाओं का आयोजन किया गया, जिसमें इंटरनेशनल पब्लिक मूवमेंट "आओ मिलकर दुनिया को बदले" के कार्यकर्ताओं ने भाग लिया.

जैसा कि CWT बोर्ड के अध्यक्ष अलेक्सई मूरतोव ने उल्लेख किया, यह आंदोलन भारत के सार्वजनिक जीवन में एक सक्रिय भागीदार बन गया है.

अलेक्सई मूरतोव के अनुसार, भारत में, CWT के समर्थकों सक्रिय रूप से धर्मार्थ और प्रायोजन गतिविधियों में लगे हुए हैं, वे स्कूलों और अनाथालयों में मदद करते है और खेल और सांस्कृतिक घटनाओं के संगठन में भी भाग लेते है. "1 फरवरी को, मुंबई शहर के केंद्रीय वर्ग में एक भव्य संगीत कार्यक्रम हुआ, जहाँ रचनात्मक सामुदायिक के दर्जनों लोगों ने भाग लिया. यह संगीत समारोह शहर के निवासियों के लिए पूरी तरह से मुफ़्त था, यहाँ कोई भी आकर कलाकारों की रचनात्मकता का मजा ले सकते थे. यह केवल हमारे कार्यकर्ताओं के प्रायोजन की वजह से संभव हुआ," CWT के बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा.


इसके अलावा, 10 फरवरी को, CWT के समर्थकों के लिए प्रशिक्षण सेमिनार अलीबाग में आयोजित की गई थी और 12 फरवरी को, वैचारिक नेतृत्व बैठक चंद्रपुर में आयोजित की गई थी. अलेक्सई मूरतोव ने कहा की "भारत में हमारे आंदोलन में रुचि तेजी से बढ़ रहा है, दैनिक हमारे समर्थकों श्रेणी में शामिल हो रहे है. यह केवल भागीदारी के बारे में नहीं बल्कि यह इस क्षेत्र में क्रिप्टोकरेंसी के तेजी से विकास के बारे में भी है."

विशेष रूप से, अलेक्सई मूरतोव के अनुसार, महाराष्ट्र में, नेताओं और आंदोलन के समर्थकों की बैठक में भारत के सबसे बड़े बीटकोइन के आदान प्रदान के एक संघ पर चर्चा की गई. मुंबई में आम प्रारूप में, पिछले सप्ताह पहली बैठक आयोजित की गई थी. "प्रमुख बीटकोइन-एक्सचेंजों जैसेकि ज़ेबपा, उनोकॉइन, कोइंसेकुरे और सेअर्छतराडे एक उद्योग की व्यापक संगठन में शामिल हो गए है, जिसको "भारत के ब्लॉकचेन और आभासी मुद्रा एसोसिएशन" कहा जाता है. एसोसिएशन की पंजीकरण की प्रक्रिया अभी जारी है," उन्होंने कहा.

 

इसके अलावा, अलेक्सई मूरतोव ने यह भी कहा है कि अन्य क्रिप्टोकरेंसी कंपनियों ऊपर उल्लेख एक्सचेंजों में शामिल हो जाएँगे. CWT के बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा कि "प्रतिभागियों की संख्या दो दर्जन से अधिक हो सकती है. संगठन का मुख्य उद्देश्य यह होगा की वे एक एक ऐसा शारी बनाए जो नियामकों के साथ बातचीत करे. इसके अलावा, इसका यह उद्देश्य होगा की ये बीटकोइन व्यापार को सुरक्षित बनाए. एसोसिएशन के सदस्यों वित्तीय पिरामिड और अन्य ग्रे योजनाओं के जोखिम के बारे में जागरूकता बढ़ाएंगे. जैसा कि हम देख सकते हैं, क्रिप्टोकरेंसी बाजार धीरे-धीरे और अधिक संगठित हो रहा है, जिसका हमने बार बार भविष्यवाणी की है."

अलेक्सई मूरतोव ने यह याद दिलाया कि, फरवरी की शुरुआत में भारतीय रिजर्व बैंक ने एक पत्र प्रकाशित किया था जिसमें उन्होंने लोगों को क्रिप्टोकरेंसी के जोखिमों के बारे में चेतावनी दी. CWT के बोर्ड के अध्यक्ष ने कहा कि " कोई भी कारया करने से पहले, उपयोगकर्ता को Bitcoin-व्यापार की अनिश्चितता पर विशेष ध्यान देने को कहा गया था. भारत के मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एचआरडी) भी जागरूकता बढ़ाने में सक्रिय है. नियामक द्वारा नियंत्रण क्रिप्टोकरेंसी को अधिक सुरक्षित बनाता है, जिसका भारत में इलेक्ट्रॉनिक मुद्रा में रुचि के विकास पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है."

स्रोत: CWT समाचार

  • 18 फ़रवरी 2017 को 1:26:00 अपराह्न MSK
  • 0 टिप्पणी
  • 717 देखा
0 टिप्पणी